क्या है व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी ? व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी के फायदे।

2021- 22 में भारत के वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने नई वाहन कबाड़ नीति का ऐलान किया है. जिसमें उन्होंने कई सारे बदलाव भी किये है.


आज इस पोस्ट में आपको बताएंगे कि श्रीमती  निर्मला सीतारमण वाहन स्क्रैप पॉलिसी का ऐलान किया. उसमें क्या-क्या बदलाव किये है और वाहन स्क्रैप पॉलिसी क्या होती है? इसके फायदे क्या हैं? और इस नीति के मुताबिक में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए…

शायद आपको पता होगा कि दुनिया में सबसे ज्यादा कार वाला  शहर दिल्ली है. वाहनों चलते वायु प्रदूषण इतना बढ़ गया है कि किसी किसी शहर में तो सांस लेना भी मुश्किल हो जाता है. 


कुछ ही दिनों पहले राजमार्ग मंत्री और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी नई कबाड़ नीति 2021-22 को मंजूरी दे दी है. आइए जानते हैं नई व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी क्या है?


New Vehicle scrappage policy 2021-22 : 

कुछ दिनों पहले भारत सरकार ने  New Vehicle Scrappage Policy का ऐलान किया है. कुछ लोग तो ऐसे होंगे जिन्हें इस पॉलिसी के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं होगी. सरकार द्वारा जो नई वाहन कबाड़ नीति 2021-22 एलान किया हैं, उसमें क्या क्या बदलाव हुए हैं? किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए नई वाहन कबाड़ नीति क्या होती है? नई वाहन कबाड़ नीति क्या क्या बदलाव किए गए हैं? नई वाहन कबाड़ नीति उद्देश्य क्या है? नई वाहन कबाड़ नीति फायदे क्या है? उनके बारे में सभी जानकारी आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ें…


नई वाहन कबाड़ नीति क्या है? (What is Vehicle scrappage policy 2021-22) :

Vehicle scrappage policy  का मतलब होता है, कि अगर आपकी गाड़ी, मोटरसाइकिल, कार आदि अगर 15 साल से ज्यादा पुरानी होती है, तो आप उसे चला नहीं सकते. इस पॉलिसी के तहत 15 साल से पुरानी गाड़ियों को रद्द कर दिया जाता है, मतलब इसे चलाने के काबिल नहीं समझते है, अगर आप 15 साल से अधिक पुरानी गाड़ियों को चलाते हैं तो आपके ऊपर कई प्रकार के जुर्माने लगाए जाएंगे। इसका सीधा-सीधा मतलब यह होता है कि, आपकी कमर्शियल व्हीकल  15 साल से पुरानी और प्राइवेट vehicle 20 साल से पुरानी अगर होती है तो आप उसे सड़कों पर नहीं उतार सकते. 


नई vehicle scrappage policy में क्या-क्या बदलाव किए गए?

अगर आपको नई व्हीकल स्क्रेप पॉलिसी के बारे में पता चल गया होगा, तो अब आपको बताएंगे भारत सरकार द्वारा जो नई vehical स्क्रेप पॉलिसी बनाई गई है, उसमें क्या-क्या बदलाव किए गए हैं आइए जानते हैं…

जैसा कि हमने आपको पहले बताया था, कि अगर आपका निजी वाहन 15 साल से अधिक पुराना है तो आप उसे सड़कों पर नहीं उतार सकते थे, लेकिन नितिन गडकरी ने स्क्रेपिंग पॉलिसी में हुए बदलाव का जिक्र करते हुए कहा है कि  new vehicle scrap policy 2021-22 के अनुसार अब 15 साल से अधिक पुराने वाहनों की अवधि बढ़ाकर 20 साल कर दी गई है. इसके अनुसार अगर 20 साल से अधिक पुराना आपका निजी वाहन होता है तो आप उसे नहीं चला सकते।

और कमर्शियल बहनों की अवधि 15 साल कर दी गई है इसके अनुसार अगर आपका कमर्शियल वाहन 15 साल से पुराना है तो उसे स्क्रेप किया जाएगा। 

अगर आपका वाहन 15 साल से अधिक पुराना है तो आप उसे बेचकर नए वाहन खरीद सकते हैं इसके लिए आपको बहुत हद तक छूट दिलाई जा सकती है , हालाँकि इसके बारे में अभी तक भारत सरकार ने खुलकर कोई  प्रस्ताव पेश नहीं किया है।  इसलिए यह कहना मुस्किल है कि जो व्यक्ति को छूट मिल रही है, वह कितने प्रतिशत तक हो सकती है।

नितिन गडकरी ने यह भी कहा है कि अगर अब कोई वाहन बेचता है जो वाहन 15 साल से अधिक पुराना है, अगर उसमें से कोई सामान उपयोगी होता है तो उसका उपयोग नई गाड़ियां बनाने में किया जाएगा, पुराने वाहन में से निकला सामान का उपयोग करके नई गाड़ियां बनाई जाएगी. ऐसा करने से लागत कम होती है तो भविष्य में गाड़ियों की कीमत भी कम हो सकती है. 


वाहन कबाड़ नीति का उद्देश्य :

भारत सरकार ने नई वाहन कबाड़ नीति को बढ़ावा दिया है क्योंकि के नियमों के अनुसार अगर 15 साल से अधिक पुरानी गाड़ियों को कोई व्यक्ति बेचता है जिसका कोई उपयोग नहीं है, उसमें से अगर कोई सामान निकलता है जो कि उपयोगी हो सकते हैं दूसरी गाड़ियों के विनिर्माण में, तो भविष्य में गाड़ियों की कीमत में भी कमी देखी जा सकती है.

नई वाहन कबाड़ नीति मेन उद्देश्य देश में विनिर्माण को बढ़ावा देना है.

इसके अलावा इस पॉलिसी का मकसद यह भी है कि कुछ लोग पैसे बचाने के चक्कर में कई साल पुरानी गाड़ियों को भी उपयोग में ला रहे हैं. जिसके पार्ट ठीक से काम नहीं करते, इसके कारण सड़क दुर्घटना भी होने की संभावना होती है, इसको कम करने के लिए सरकार पुरानी गाड़ियों को चलाने पर रोक लगा रही हैं और उससे खरीद कर कबाड़ बनाया जा रहा है और उनमें से कुछ पार्ट जो ठीक तरह से काम कर रहे हैं  उसे निकालकर नई गाड़ियों का भी निर्माण किया जा रहा है। जिससे आने वाले समय में गाड़ी की कीमत में काफी मात्रा में कमी देखी जाएगी.


नई vehicle scrappage policy कब लागु होगी?

अब तक हमने आपको बजट 2021 22 New Vehicle scrappage policy के बारे में आपको विस्तार से समझाया है. लेकिन भारत सरकार द्वारा जो नई व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी बनाई गई है, वह अभी तक लागू नहीं की गई है. अब बात आती है कि यह पॉलिसी कब लागू होगी।
तो भारत सरकार द्वारा जो नई पॉलिसी में बदलाव किए गए हैं 1 अप्रैल 2022 में लागू की जाएगी।

FAQ’s –

Q. New vahan scrappage policy कब लागू होगी?
Ans: नई वाहन कबाड़ नीति 22 अप्रैल 2022 को लागू होगी।
____________________________



आशा करते हैं कि आपको हमारे द्वारा बताइए जानकारी समझ में आ गई होगी New vahan scrappage policy kya hai in hindi (what is New vahan scrappage policy detail in hindi) इसका उद्देश्य or इसमे क्या बदलाव किए गए हैं।

Leave a Comment