Digital Currency : क्रिप्टोकरंसी क्या है? | Cryptocurrency में invest कैसे करें? | Cryptocurrency full detail in Hindi

Digital currency/ cryptocurrency in Hindi

आज जिसे देखो वह क्रिप्टोकरेंसी के पीछे भाग रहा है, क्योंकि क्रिप्टोकरंसी ने फाइनेंशियल मार्केट में अपनी जगह बना ली है. क्रिप्टो करेंसी पूरी दुनिया में इस्तेमाल करने वाली करेंसी बन चुकी है, इसी क्रिप्टो करेंसी (Digital currency) के बारे में आज हम आपको बताने वाले हैं, क्रिप्टोकरंसी या डिजिटल करेंसी क्या है? डिजिटल करेंसी किसे कहते है? डिजिटल करेंसी/क्रिप्टोकरंसी कैसे ख़रीदे?


What is digital currency in Hindi
Digital currency




क्रिप्टो करेंसी/ डिजिटल करेंसी क्या है? : ( what is Digital currency/ cryptocurrency in hindi? )

sसायद आपको पता ही होगा की क्रिप्टो करेंसी एक प्रकार की डिजिटल करंसी है, क्रिप्टो करेंसी को ही डिजिटल करेंसी कहते है? जिसका यूज डिजिटल मार्केट में खरीददारी या सर्विस के लिए किया जाता है. क्रिप्टो करेंसी का लेनदेन digital signature द्वारा वेरिफिकेशन में किया जाता है, यह peer to peer प्रणाली है, जो कंप्यूटर में algorithm पर बनी है. इसे हम छू नहीं सकते क्योंकि यह ऑनलाइन तरीके से लेनदेन करने वाली करेंसी है.

इस करेंसी की एक मुख्य बात यह है कि इस करेंसी पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है, digital currency की अपनी एक अलग वैल्यू है. जिसमें आप इन्वेस्ट भी कर सकते हैं लेकिन ऑनलाइन तरीके से,  क्योंकि यह करेंसी डिजिटल है. इसलिए आप इसे ना तो बैंक में रख सकते हैं और ना ही पास में रख सकते हैं, इसलिए इसे Electronic money (इलेक्ट्रॉनिक पैसा) भी कहते हैं.

Note : “सन 2018 में RBI ने क्रिप्टो करेंसी के लेन-देन का समर्थन करने को लेकर बैंकों और विनियमित वित्तीय संगठनों को प्रतिबंधित कर दिया था.”



क्रिप्टो करेंसी/डिजिटल करेंसी का मार्केट :

ऐसी जगह जहां क्रिप्टोकरंसी (digital currency) का लेनदेन और ट्रेंडिंग होता है, क्रिप्टो करंसी या डिजिटल करेंसी मार्केट कहलाता है. जहां कोई भी क्रिप्टो करेंसी खरीद या बेच सकते हैं और उसमें इन्वेस्ट कर सकते हैं. क्रिप्टो करेंसी के बहुत से प्रकार है (“types of digital currency/cryptocurrency“) आइए अब हम आपको cryptocurrency के प्रकार से अवगत कराते हैं-


क्रिप्टो करेंसी के प्रकार : (“types of cryptocurrency”)

क्रिप्टो करेंसी के बहुत से प्रकार है जैसे BitcoindogecoinShiba INU coin जिसमें बिटकॉइन सबसे  फेमस cryptocurrency है और भी कई क्रिप्टो करेंसी है जिन्होंने शेयर मार्केट में अपनी अच्छी पकड़ बना ली है सभी digital currency Blockchain Technology पर कार्य करती है, तो आइए हम आपको बताते हैं क्रिप्टो करेंसी के प्रकार-

बिटकॉइन-

अगर हम क्रिप्टो करेंसी की बात करें तो उसमें सबसे पहले फेमस करंसी है, वह है बिटकॉइन
बिटकॉइन दुनिया का सबसे पहला क्रिप्टोकरंसी है जिसे satoshi nakamoto ने 2009 में बनाया था, यह पूरी तरह से ऑनलाइन करंसी है जिसका ट्रांजैक्शन गुड्स और सर्विस के लिए होता है. इस  क्रिप्टो करेंसी पर गवर्नमेंट का कोई भी अधिकार नहीं है.

शुरू में बिटकॉइन को सफलता के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा लेकिन आज यह दुनिया की सबसे महंगी digital currency बन चुकी है.



Bitcoin विस्तृत जानकारी :



Ethereal-

यह दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी करेंसी है, जिसे 2015 में लांच किया था यहां एक decentralized  ओपन सोर्स ब्लॉकचेन है, इसे ether के नाम से भी जाना जाता है. 
Ethereal cryptocurrency के फाउंडर vitamin buterien है, यह करंसी उन के यूजर्स को डिजिटल टोकन बनाने में मदद करती है, जिसे करेंसी के रूप में यूज किया जाता है.


Block chain technology  विस्तृत जानकारी :


Lite coin-

यह भी एक पियर टू पियर क्रिप्टो करेंसी है, Lite coin cryptocurrency की शुरुआत अक्टूबर 2011 में हुई थी. यह एक ओपन सोर्स क्रिप्टोग्राफिकल प्लेटफार्म पर आधारित है. Litecoin का ट्रांजैक्शन बिटकॉइन से भी 4 गुना अधिक तेजी से होता है.


Block chain technology  विस्तृत जानकारी :


Dogecoin-

डॉगी कॉइन भी काफी फेमस क्रिप्टो करेंसी है, जिसके बनने के पीछे बहुत ही रोचक कहानी है जिसके फाउंडर का नाम billy markus है इस क्रिप्टो करेंसी की पूरी जानकारी नीचे लिंक में दी गई हुई है-

Fair Coin-

Faircoin एक spain based co-operative organization है जो grand socially conscious vision का बहुत बड़ा हिस्सा है, यह क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन की ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित है, इसे CIC और integral cooperative नाम से भी जाना जाता है.

Dash-

इस करेंसी का नाम पहले xcoin और darkcoin था, यह डिजिटल कैश टाइप की करेंसी है जो कि एक peer to peet क्रिप्टो करेंसी है, इस करेंसी में बिटकॉइन से ज्यादा फीचर्स है, इस करेंसी में on common algorithm का यूज़ होता है.    

यह कुछ ऐसी क्रिप्टो करेंसी है जिसे बहुत से लोग जानते भी हैं और कई लोग इसे इस्तेमाल व इसमें इन्वेस्ट भी करते है.




क्रिप्टो करेंसी कैसे काम करती है :

क्रिप्टो करेंसी ब्लॉकचेन पर आधारित है, जिसके ट्रांजैक्शन का पूरा रिकॉर्ड रखा जाता है जो पावरफुल कंप्यूटर की निगरानी में होता है जब भी इस क्रिप्टोकरंसी का कोई ट्रांजैक्शन होता है तो उसकी जानकारी ब्लॉकचेन enter होती है इसी ब्लॉकचेन की सिक्योरिटी का काम माइनर का होता है – miner सही hash को ढूंढ कर ब्लॉकचेन में सेव कर देता है नेटवर्क में मौजूद अन्य नोट द्वारा hash को वेरीफाई किया जाता है यह प्रोसेस पूरी होने के बाद उस सिक्योर करने वाले माइनर को क्रिप्टो कॉइन दिए जाते हैं


क्रिप्टो करेंसी के फायदे : ( advantage of cryptocurrency in Hindi )

  • यह प्रकार की डिजिटल करंसी है, इसलिए इसके चोरी होने व गुम हो जाने की संभावना शून्य हो जाती है.
  • क्रिप्टो करेंसी में फ्रॉड होने की गुंजाइश कम है.
  • क्रिप्टो करेंसी के लिए बैंक की कोई जरूरत नहीं होती है.
  • क्रिप्टो करेंसी सिक्योर करेंसी है, जिसका सरकार द्वारा कोई नियंत्रण नहीं है,
  • क्रिप्टो करेंसी के ट्रांजैक्शन की फीस बहुत कम है.
  • क्रिप्टो करेंसी नॉर्मल डिजिटल पेमेंट से ज्यादा सेफ होती है.



क्रिप्टो करेंसी के नुकसान : ( disadvantage of cryptocurrency in Hindi )

  • क्रिप्टो करेंसी का ट्रांजैक्शन पूरा हो जाने के बाद उसे फिर से रिवर्स नहीं किया जा सकता है.
  • इसकी वॉलेट आईडी बहुत महत्वपूर्ण होती है, क्योंकि अगर यह missing हो जाए तो इसे दोबारा प्राप्त करना असंभव है.
  • चुकि यह डिजिटल करेंसी है, इसलिए इसके हैक होने के चांस बने रहते हैं.
  • क्रिप्टो करेंसी का गलत यूज़ भी किया जा सकता है.
  • क्रिप्टो करेंसी पर किसी government authority का नियंत्रण नहीं है.


क्रिप्टो करेंसी का भविष्य : ( future of cryptocurrency )

पिछले कुछ सालों में क्रिप्टो करेंसी की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है, क्रिप्टोकरंसी में फायदा और नुकसान दोनों ही है. यह एक डिजिटल करेंसी है, जिसमें धोखाधड़ी की उम्मीद कम है. क्रिप्टो करेंसी एक ग्लोबल मार्केट है. जो देश या फिर राजनीति पर निर्भर नहीं करती है. आज पूरी दुनिया डिजिटल होते जा रही है ऐसे में क्रिप्टो करेंसी के भविष्य में बने रहने की संभावना अधिक है। 


FAQ :

cryptocurrency क्या है इन हिंदी?

क्रिप्टो करेंसी एक प्रकार की डिजिटल करेंसी होते है जिसे आप किसी सिक्के या नोट के रूप में अपने पास नहीं रख सकते है, इसे डिजिटल वोलेट में रखा जाता हिया और इसे इगितल मार्केट में ही उपयोग किया जाता है.


क्या क्रिप्टो करेंसी लीगल है ?

बहुत से देशों में क्रिप्टोकरंसी को लीगल कर दिया गया है, लेकिन बहुत से देश है ऐसे भी हैं जहां इसका पूरी तरह से प्रतिबंध है.


क्या भारत में cryptocurrency लीगल है?

भारत में क्रिप्टो करेंसी पूरी तरह से लीगल है आप भारत में कोई भी क्रिप्टो करेंसी खरीद व बेच सकते हैं.


——————-


आज हमने क्या सीखा :

आज के लेख में हमने  cryptocurrency क्या है? डिजिटल करेंसी क्या है? डिजिटल करेंसी में इन्वेस्ट कैसे करें? cryptocurrency कैसे खरीदें? के बारे में विस्तृत जानकारी से रूबरू कराया.

अगर आपके लिए यह आर्टिकल उपयोगी है, तो इसे आप अपने सभी दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर जरूर करें, और अगर आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो कृपया हमें कमेंट करके जरूर बताएं हमारी टीम उसके सवाल का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे.


Thanks for Reading full artical


Leave a Comment