What is Demat Account | Demat account क्या है? Demat Account कैसे खोले?

हेल्लो दोस्तों अगर आप शेयर मार्केट में रूचि रखते है, ओ आपको पता ही होगा की Demat Account kya hai? अगर आप नहीं जानते है की Demat Account क्या होता है? (What is Demat Accountऔर Demat Account कैसे खोले? तो आज हम आपको Demat Account Full Detail in hindi इस आर्टिकल के माध्यम से देंने वाले है-

डीमेट अकाउंट क्या है – Demat Account in Hindi :

Demat account Kya Hai?
Demat Account


डीमेट अकाउंट एक बैंक अकाउंट की तरह है, जिसमें शेयर्स रखे जाते हैं, यह शेयर डीमेट अकाउंट में इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में रखे जाते हैं.


डीमेट का अर्थ है- ऐसा खाता जिसमें अनछुई वस्तुएं रखी जा सके, इस अकाउंट में आप आपके शेयर्स, म्यूचल फंड या प्रतिभूति को रख सकते हैं, डीमेट अकाउंट में आप शेयर की प्रविष्टि उसकी पासबुक में कर सकते हैं, लेकिन इससे भौतिक रूप से अपने पास नहीं रख सकते.

जब शेयर बाजार का सारा काम ऑनलाइन होने लगा था, तब यह फैसला लिया गया कि शेयर्स को भी पेपर लेस किया जाए, तब से शेयर का स्वरूप डिजिटल हो गया. अब बिना दस्तावेजों के आप आपके शेयर निवेश कर सकते हैं, क्योंकि शेयर्स को अब इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म दे दिया गया है.

अगर आपको शेयर बाजार में निवेश करना है तो डीमेट अकाउंट सबसे बेहतर विकल्प है, क्योंकि डीमेट अकाउंट को छोड़कर User किसी अन्य रूप में शेयर खरीद या बेच नहीं सकते, अगर आपको अपने शेयर बेचने हैं या खरीदने हैं तो उसके लिए डीमेट अकाउंट अनिवार्य है.



Zerodha में Demat Account कैसे खोलें ?

  • Zerodha में अकाउंट खोलने के लिए सबसे पहले zerodha की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं 
  • वेबसाइट पर ओपन अकाउंट पर क्लिक करें.
  • Click करने पर एक न्यू पेज ओपन होगा,
  • जिसमें बेसिक इनफार्मेशन जैसे Name , Mobile Number , Email Id , आपका Address भरे और  “call me” पर क्लिक करें. 
  • अब आपको आपके नजदीकी गांव या शहर या जहां आप रहते हैं, उस गांव और शहर के zerodha एजेंट का कॉल आएगा, 
  • आप सभी डॉक्यूमेंट के साथ उनसे मिलने का समय तय करें. 
  • अब आप को ओपन डिमैट अकाउंट फीस भी पे करना होगा. 
  • जिसके पांच से 7 दिन के भीतर आपका डीमेट अकाउंट खुल जाएगा.


Zerodha में डीमेट और ट्रेडिंग अकाउंट खोलेंने के लिये दस्तावेज ? (Documents for opening Demat and Trading account in Zerodha?)

Zerodha  में dekar और ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के लिए आपको कुछ जरूरी दस्तावेज जैसे

1). पैन कार्ड 

2). आधार कार्ड 

3). दो पासपोर्ट साइज फोटो 

4). रद्द खाता चेक किया सेविंग बैंक अकाउंट की  पासबुक 

Note : अनिवार्य है इसके बाद ही zerodha में डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खोल सकते हैं.

Demat Account खोलने में कितने रुपये लगते है? (“Demat Account opening fee”)

डीमेट अकाउंट खुलवाने की फीस 300 से ₹700 है, हर चीज का अपना एक अलग चार्ज होता है. यह फीस अलग-अलग कंपनी में अलग-अलग हो सकती है, लेकिन कई सारे डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट आपसे डीमेट अकाउंट खुलवाने के पैसे नहीं लेते यह free Demat Account खोलते हैं.


Demate Account के प्रकार – (“Types of Demat Account”)

डीमेट अकाउंट के तीन मुख्य प्रकार है, जिसमें खाता खुला सकते हैं यह प्रकार निम्न है-

1). रेगुलर डीमैट खाता (Regular Demat account) :

इस अकाउंट में यूजर अपनी security and activity को होल्ड करके रख सकता है, और साथ ही lPOs में भी इन्वेस्ट कर सकता है. यह अकाउंट इंडियन person’s के लिए बहुत अच्छा अकाउंट है, इस अकाउंट में यूजर को 50,000 से कम होल्डिंग्स के लिए किसी भी प्रकार के मैनेजमेंट चार्ज देने की जरूरत नहीं होती है.


2). रिपाट्राइबल डीमैट अकाउंट (Repatriable Demat account) :

यह अकाउंट इंडिया से बाहर दूसरे देशों में रहने वाले persons के लिए है, यूजर जिस भी देश में रहता है, वहां से वह भारत में फंड ट्रांसफर कर सकता है. 

आप इसमें अधिकतम 1 मिलीयन USD तक फंड ट्रांसफर कर सकते हैं, लेकिन इस प्रकार के अकाउंट के लिए यूजर को NRE जो कि एक बैंक अकाउंट है, जिसमें यूजर को अकाउंट बनाने की जरूरत पड़ेगी.


3). नॉन-रिपाट्रिएबल डीमैट अकाउंट :

यह अकाउंट भी उन लोगों के लिए है जो भारत से बाहर रहते हैं, लेकिन इसमें यूजर दूसरे देश से भारत में पैसे ट्रांसफर नहीं कर सकता, आप विदेशों में रह रहे हो और जब भारत आए तब आप यहां शेयर खरीदे तथा अब आप उसमें शेयर को होल्ड करना चाहते हो तो उसके लिए यह अकाउंट पर्फेक्ट है. इस प्रकार के अकाउंट खुलवाने के लिए आपके पास NRO प्रकार का अकाउंट होना चाहिए.


डीमेंट खाता कौन खोलता है?

डिमैट अकाउंट खोलने के लिए भारत में 2 संस्थाएं NSDL (National securities depository limited) और CDSL (Central depository security limited) है. इन संस्थाओं के करीब 500 एजेंट है, जो डिमैट अकाउंट खुलवाने का काम करते हैं, इन्हीं को डीपी भी कहते हैं. इनके अलावा कुछ ऐसी संस्थायें है जो डीमेट अकाउंट खुलवाती है.


Demat Account के फायदे : (Benefits of Demat Account)

  • डीमेट एकाउंट एक प्रकार का पेपर लेस अकाउंट है जिसमें चोरी यां धोखाधड़ी का कोई खतरा नहीं होता
  • डीमेट अकाउंट में शेयर इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में रखे जाते हैं
  • डिमैट अकाउंट से आप आसानी से शेयर खरीद व बेच सकते हैं
  • शेयर ट्रांसफर करने में डीमेट अकाउंट से आसानी होती हैं
  • यूज़र की डेथ के बाद यह अकाउंट ट्रांसफर करने की सुविधा भी लेता है


डीमेट अकाउंट बंद कैसे करे? (How to close Demat account?)

डिमेट अकाउंट बंद करने के लिए आपको उसकी शाखा जाकर फॉर्म भरना होता है, तथा कुछ जानकारी और दस्तावेज जमा करने होते हैं जैसे कि- 

  1. Demat Account I’d
  2. KYC Detail
  3. Name ,Address,
  4. डिमेट अकाउंट बंद करने का कारण, 
  5. बैंक में अधिकारी की ओर से वेरिफिकेशन आईडी,
इन सभी के बाद 7 से 10 दिन के भीतर आपका डीमेट अकाउंट बंद हो जाएगा, अकाउंट बंद करने के लिए कोई भी अलग से चार्ज नहीं लगता है.


FAQ about Demat Account :


डीमैट अकाउंट क्या काम आता है?

डिमैट अकाउंट शेयर रखने खरीदने व बेचने के काम आता है.


सबसे अच्छा डिमैट अकाउंट कौन सा है?

मेरे हिसाब से Zerodha एक विश्वसनीय और बेहतरीन फीचर्स वाला स्टॉक ब्रोकर है, जो भारत के सबसे बड़े स्टॉक ब्रोकर में से एक है. 

इसका कस्टमर बेस शानदार है, यह एक पेपर लेस अकाउंट ओपन करने की सुविधा देता है साथ ही टेक्निकल एनालिसिस के लिए बेस्ट चार्ट और टूल्स उपलब्ध कराता है. 


Zerodha पर डीमेट अकाउंट खोलने का कितना चार्ज लगता है?

Zerodha में डिमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाने के शुल्क सिर्फ ₹200 है, जबकि डीमेट अकाउंट का वार्षिक शुल्क केवल ₹300 हैं, UPI के द्वारा फंड ऐड करने पर भी इसमें अलग से कोई चार्ज नहीं लगता.


डीमैट का अर्थ क्या होता है? (Meaning of Demat)

डीमेट का अर्थ – Dematerialized
मतलब की अनछुआ 
जिसे कोई छू नहीं सकता, इस खाते में अनछुई वस्तुएं रखी जा सकती है, जिसमें आप शेयर्स, म्यूचल फंड उसकी प्रतिभूति रख सकते हैं.


डीमैट अकाउंट नंबर क्या होता है?

डीमेट अकाउंट नंबर यूज़र की पहचान संख्या होती है, जो यूजर को डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट द्वारा दिया जाता है, 

डीमैट अकाउंट नंबर कितने अंक का होता है?

यह 16 अंकों का होता है, जिसकी पहचान उसकी संख्या द्वारा होती है.



क्या दो डीमैट अकाउंट खोल सकते हैं?

हां आप दो डीमेट अकाउंट खोल सकते हैं लेकिन उसके लिए यूजर को अलग-अलग ब्रोकर पर अपना डीमेट अकाउंट खोलना होगा आप एक साथ एक ही ब्रोकर पर आपके अकाउंट नहीं खोल सकते


डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट क्या है?

ट्रेडिंग अकाउंट से हम शेयर बाजार से शेयर खरीद व बेच सकते हैं और उस खरीदे हुए शेयर्स रखने को लिए हमें एक अकाउंट की जरूरत होती है. उसी अकाउंट को डीमेट अकाउंट कहते हैं. 

जिसमें हमें शेयर्स रख सकते हैं जबकि अगर हमें शेयर्स बेचने होते हैं तो यह शेयर हमारे डीमेट अकाउंट से निकलकर ट्रेडिंग अकाउंट के माध्यम से शेयर खरीदने वाले के पास चले जाते हैं.


शेयर मार्केट को कैसे समझें?

शेयर का मतलब हिस्सा होता है जब कोई कंपनी का अपना निवेश बढ़ाने के लिए अपना हक बेचती है उसे ही हम शेयर कहते हैं, और जब यह शेयर कोई खरीदता है, तो शेयर को रखने के लिए अकाउंट की जरूरत होती है. उसी अकाउंट को डिमैट एकाउंट कहते हैं यह अकाउंट एक स्टोर की तरह होता है जहां पर आप को शेयर कर रख सकते हैं.


Leave a Comment